Welcome

Welcome
Diya Sain is India's one of the best Indian Women Kushti wrestler of present day scoring 55 medals at a short span. She is from a family of wrestlers. Her father Suraj Pahalwan and Grand father Sh. Rajinder Singh of Village Purbalian, District Mujaffar Nagar Uttar Pardesh , were also very fine wrestlers of their time. Suraj Pahlwan wanted to make his son Dev Sain a good wrestler. Divya followed on the footsteps of her brother at a very young age . Although from a fortune less family , she went on to become a champion in India.

Friday, January 2, 2015

Men vs Women : Diva Sain pins Nadeem from Aligarh. - Etawah Mahotsav, Uttar Pardesh



50 सालों से भी अधिक समय से प्रतिवर्ष आयोजित हो रहे इटावा महोत्सव के दौरान हुए कुश्ती दंगल में पहलवान दिव्या सैन को भी आमंत्रित किया गया। दंगल में आने का निमंतरण मिला तो इटावा पहुंचा। पहलवान दिव्या सैन की कुश्ती एक पुरुष पहलवान नदीम अलीगढ़ के साथ तय हुई। कुश्ती देखने स्वयं समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव मौजूद थे। नदीम को दिव्या सैन ने चित्त कर कुश्ती जीती तो मुलायम सिंह यादव ने खुश होकर दिव्या को बुलाकर नकद पांच सौ रूपये दिए। दिव्या सैन ने अपनी आर्थिक स्थिति का एक ज्ञापन मुलायम सिंह को लिखित रूप में सौंपा। जिसमे उसने लिखा की किस तरह दिल्ली में एक किराए के मकान में रह कर , पहलवानो के लंगोट जाँघिए सिलकर उसके माता पिता उसे पहलवानी करा रहे हैं। उन्होंने मुलायम सिंह जी से गुहार लगाईं की उत्तर प्रदेश के गाँव पुरबालियान जिला मुजफ्फर नगर की बेटी हूँ , और आर्थिक सहायता की दरखास्त करती हूँ। मुलायम सिंह ने उन्हें सरकारी सहायता देने का आश्वासन दिया। ये खबर लिखने तक दिव्या सैन उनके आश्वासन पूरा होने के इंतज़ार में हैं।

 The Etawaha festival in Uttar Pardesh is being held since more than 50 years. The Kushti dangal event in the festival is the main attraction of the festival. Wrestler Divya sain and me were invited in this event. Wrestler Divya sain was paired against a wrestler namely Nadeem from Aligarh. She pinned Nadeem easily and won the match. Samajwadi Party Leader Mulayam Singh Yadav were 

the chief guest at the event. He was pleased with Divya's win and gave her cash prize . She also submitted a memorandum seeking help from the Uttar Pardesh Govt.

 

No comments:

Post a Comment