Welcome

Welcome
Diya Sain is India's one of the best Indian Women Kushti wrestler of present day scoring 51 medals at a short span. She is from a family of wrestlers. Her father Suraj Pahalwan and Grand father Sh. Rajinder Singh of Village Purbalian, District Mujaffar Nagar Uttar Pardesh , were also very fine wrestlers of their time. Suraj Pahlwan wanted to make his son Dev Sain a good wrestler. Divya followed on the footsteps of her brother at a very young age . Although from a fortuneless family , she went on to become a champion in India.

Tuesday, December 22, 2015

Women's Wrestling - Cadet World Championships - Sarajevo 2015

These are the wrestling bouts , Divya played at the Women's Wrestling - Cadet World Championships, at Sarajevo , for the year 2015. She fought well. In one of her qualifying matches, she missed with a narrow margin. She has to contend on the seventh position this time. Hope she will improve her performance next time.



Wednesday, December 16, 2015

UP state University Champion - Divya Sain

16.12.2015 Congratulations Divya, This is your 43rd Medal in the row.

चौधरी चरण सिंह विश्वविध्यालय मेरठ द्वारा आयोजित की गयी अन्तरमहाविध्यालय कुश्ती प्रतियोगिता 2015 में मुझे स्वर्ण पदक मिला। 69.kg me

Wednesday, April 29, 2015

Divya Sain at Ghumarmi Dangal , Himachal Pardesh



  घुमारमी हिमाचल प्रदेश हिमाचल में भर गर्मी दंगलों का सीजन होता हैं। जहाँ एक ओर पूरा देश धुप और तपन से परेशान हुआ रहता हैं। वहीँ हिमाचल में मौसम खुशगवार रहता हैं। दंगल भी बढ़िया जगह होते हैं । पहाड़ी के बीचो बीच सेंटर में , जिसके चारों ओर ढलान पर बैठ कर लोग इत्मीनान से दंगल देखते हैं। और इन दंगलों में सबसे बढ़िया और बेहतरीन दंगल होता हैं , घुमारमी का। देश भर के चोटी के पहलवान घुमारमी पहुँचते हैं। पिछले वर्ष की तरह इस बार भी दिव्या सैन की कुश्ती इस दंगल में हुई , और एक बार नहीं तीन बार। दर्शक दिव्या की कुश्ती देखने के लिए शोर मचाते और दंगल कमिटी दिव्या की कुश्ती करवाती। पहली कुश्ती में दिव्या का मुकाबला हरयाणा की एक तेज तर्रार और वजनी महिला पहलवान के साथ हुआ। कुश्ती बढ़िया चली , लेकिन हरयाणा की महिला पहलवान तीन मिनट में धराशाई हो गई। अगली कुश्ती एक पुरुष पहलवान से हुई जिसे दिव्या ने महज 22 सेकंड में चित्त किया तो एक और पुरुष पहलवान दिव्या सैन से लड़ने आ पहुंचा। दर्शक और कुश्ती के माहिर भी ये कुश्ती देख कर जानना चाहते थे , या यूँ कहूँ आजमाना , परखना चाहते थे। दिव्या ने चुनौती स्वीकार की। पहलवान तगड़ा था , कुश्ती काफी देर ऊपर नीचे रही। दोनों ही पहलवान थककर चूर हो गए थे। अंत में दिव्या ने ईरानी गेर के सांडी तोड़ के पहलवान को चित्त कर , अपने दम ख़म और कुश्ती कला का जो नमूना पेश किया की कुश्ती के बड़े बड़े आलोचकों के मुँह बंद हो गए। दर्शकों का भरपूर मनोरजंन हुआ। दंगल में जान आ गई , शम्मा बंध गया। आखिरी कुश्ती तक दर्शकों ने सांस रोके दंगलों देखा जिसमे नवीन मोर पहलवान हरकेश उर्फ़ बड़े खली से लड़े , जिनमे उन्हें जीत प्राप्त हुई। 

Ghumarmi Himachal Pardesh, 
During the summer season in India, the Himalayan state Himachal pradesh is beaming with traditional wrestling competitions. People sit along the slopes of the hills comfortably watching wrestlers compete. The dagnal of Ghumarmi is one the best dangal of Himchal Pardesh. This season people want to see wrestler Divya sain fight and that is how she ended up fighting three matches in a row. In the first she fought with a big women wrestler of Haryana and defeated her easily, in the second match she fought with a male wrestler and pinned him within 20 seconds. seeing this a good wrestler came to challanage Divya, now the public and the wrestling specialists want to see whether divya would accept the challenge. to their dismay not only Divya accepted the chllanage but also pinned her opponent however after a long and heavy fight in which both the wrestler tied to the core. the dangal went well in which the first match was fought between Naveen More and Harkesh big Khali. Naveen won the bout and became Hind kesri. Both the wrestlers would be remembered for a long time for their spectacular performance. 



Delhi State Wrestling - Sub Junior championship.


Delhi State Wrestling - Sub Junior championship.

 This is the final bout of wrestler Divya sain at the sub junior wrestling championship 2015 held at Ludlow Castle School , New Delhi. Divya Won Gold in this championship.

दिल्ली राज्य सब जूनियर कुश्ती प्रतियोगिता 2015 इस प्रतियोगिता में दिव्या सैन की ये फाइनल कुश्ती हैं। मेघा को हरा कर दिव्या सैन ने गोल्ड मेडल जीता।

Divya Fights at Pachota


पछोता जिला बुलंदशहर उत्तर प्रदेश का दंगल। पछोता के दंगल में दिव्या सैन की कुश्ती एक पुरुष पहलवान से हुई। छ सौ साल से भी ज्यादा पुराने इस दंगल में , दिव्या सैन के साथ न्याय हुआ या अन्याय आप खुद देखिये। दिव्या को कुश्ती जीतने पर भी , कुश्ती नहीं दी गई।

The traditional wrestling competition of Pachota has been taking place since more than 600 years. While the competition is a reputed one the referees did not performed to their reputation . Divya pins her male opponent neatly but the match was not given in her favour. I wish the referees could do her a good favour.



School National games Kanpur - Divya bags Gold


In this video wrestler Divya sain fights in 70 kg School national games, held at Kanput uttar pardesh. She fought with Jyoti Mor of Haryana and defeated her in the final match. यह कुश्ती स्कूल नेशनल गेम्स कानपूर उत्तर प्रदेश की हैं। इस कुश्ती में दिव्या , हरयाणा की ज्योति मोर से फाइनल मुकाबला कर रही हैं। ज्योति को हरा कर दिव्या राष्ट्रीय स्कूल चैंपियन बनी।

School National games Kanpur - Divya bags gold


In this video wrestler Divya sain fights in 70 kg School national games, held at Kanput uttar pardesh. She fought with Jyoti Mor of Haryana and defeated her in the final match. 

 यह कुश्ती स्कूल नेशनल गेम्स कानपूर उत्तर प्रदेश की हैं। इस कुश्ती में दिव्या , हरयाणा की ज्योति मोर से फाइनल मुकाबला कर रही हैं। ज्योति को हरा कर दिव्या राष्ट्रीय स्कूल चैंपियन बनी।

 

Safai Mahotsav :- Divya fights with Anshu Tomar




This video contains a wrestling bout of wrestler Divya Sain with senior wrestler Anshu Tomar. Anshu tomar is a strong women wrestler of India. She is the winner of the Prize Yash Bharti from the Uttar Prdesh Government. Anshu tomar is also an International Wrestler. While Divya sain play in Junior catergory and much junior to Anshu tomar , she fought well with Anshu tomar and went down in the last moments.

अंशु तोमर भारत की एक बड़ी और सीनियर महिला कुश्ती खिलाडी हैं। उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार से यश भारती के खिताब से भी नवाजा गया हैं। सैफई दंगल में हुए एक बड़े मुकाबले में दिव्या सैन ने सब जूनियर केटेगरी की खिलाडी होने के बावजूद अंशु तोमर का डट कर मुकाबला किया और कुश्ती के अंतिम क्षणों तक कुश्ती को रोमांचक बनाये रखा। उनकी कुश्ती से खुश होकर सपा सुप्रीमो माननीय मुलायम सिंह जी ने पांच सौ रूपये नकद इनाम दिया।


Thursday, April 9, 2015

Wrestler Divya Sain fights at guru Bishambhar Memorial Dangal - Sarai Rohilla , Delhi

यूँ तो दिव्या सैन अभी सब जूनियर लेवल पर राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में भाग ले चुकी एक महिला पहलवान हैं लेकिन इस महिला पहलवान में अनेकों खासियत हैं। छोटी उम्र में ही दो बार भारत केसरी बन चुकी इस महिला पहलवान ने एक साथ सब जूनीयर और जूनियर व् सीनियर लेवल पर भी राष्ट्रिय स्पर्धाओं में हिस्सा ही नहीं लिया बल्कि दिल्ली प्रदेश के लिए मेडल की झड़ी लगा कर दिल्ली प्रदेश का नाम भी रोशन किया हैं। मूलतः मुजफ्फर नगर उत्तर प्रदेश की रहने वाली दिव्या एक साधारण परिवार की हैं , इनके पिता जी मजदूरी कर दिल्ली के एक किराये के मकान में रह कर गुजर बसर कर रहे हैं। आज दिव्या 23 - 26 अप्रैल 2015 तक , रांची झारखण्ड में होने वाले राष्ट्रिय स्तर के जूनियर और सब जूनियर कुश्ती प्रतियोगिता में दिल्ली की तरफ से 67 किलोग्राम जूनियर व् 70 किलोग्राम सब जूनियर में अपना प्रतिनिधित्व करेगी। देश की इस होनहार महिला पहलवान से कुश्ती जगत को बड़ी अपेक्षाएं हैं। आप सब लोगों के सहयोग व् आशीर्वाद की कामनाये भी। 

 Women wrestler Divya Sain has been continuously taking part in national and international competition at Junior and Sub Junior level. At national she has achieved what a women wrestler in Indian has never , she has become the best wrestler at mud wrestling two times, and has won medal at Senior national championship even after she is a Junior . Divya originates from a distant village of Mujaffar Nagar Uttar Pardesh. Her father has been migrated to Delhi working as a laborer and living on a small dingy rented accommodation. Presently wrestler Divya sain is planning to participate in 67 kg junior and 70 kg sub junior level , national wrestling championship, to be held at Ranchi, Jharkhand. Wrestling community expect a lot more from wrestler Divya Sain, She also deserve appreciation from you and all.









A









Wednesday, February 11, 2015

सब - जूनियर लेवल पर कुश्ती लड़ रही दिव्य सैन ने , भारतीय राष्ट्रिय खेल ( नेशनल गेम्स  2015 ) केरला में सीनियर महिला पहलवानो को हरा कर तीसरा स्थान प्राप्त किया। 

Diya Sain is a sub-junior level wrestler. She was allowed to participate among the senior wrestlers on merit and after Trial. She won a Bronze at Indian National Games, 2015, kannour Kerla India. 





















Friday, January 2, 2015

Men vs Women : Divya sain pins a wrestler two times


ये मजेदार कुश्ती , झाँसी के पास बरुआ सागर गाँव में हुए कुश्ती दंगल की हैं। कुश्ती में दिव्या सैन पहलवान एक पुरुष पहलवान के साथ कुश्ती लड़ रहीं हैं। पहलवान ने दिव्या सैन पर कलाजंग का इस्तेमाल बखूबी किया , जिसका दिव्या सैन ने बढ़िया बचाव किया। मगर दिव्या दिव्या सैन ने कुश्ती जीत ली , इस बार रेफ़री ने भी कुश्ती ठीक दे दी। लेकिन ये क्या जनता को यकीन नहीं हुआ , सैकड़ों लोगों ने हाथ के इशारे कर कुश्ती नहीं होने का संकेत दिया तो , रेफ़री ने दुबारा कुश्ती चालू करवाई। इस बार फिर दिव्या ने अपने प्रतिद्वंदी को चित्त कर दिया। पहलवान चारों खाने चित्त , दिव्या ने पहलवान को दबा कर रखा हुआ हैं , और रेफ़री जनता से मुखातिब हैं , कहता हैं देखो भाई आराम से देखो। फिर कहता हैं यहाँ पर न्याय मिलेगा। पहलवान दिव्या सैन  द्वारा बढ़िया कुश्ती का प्रदर्शन। 





 In this amazing video , I shot at village, Barua, Sagar, Jhansi, Kushti dangal , Divya sain is fighting with her male opponent. she pins him, and the referee agrees and decides in favor of Divya. however the watching crowed waves at the referee not grasping what has happened and were asking a re match, the referee agreed , and the match was started once again. this time Divya pinned the wrestler and kept the wrestler pinned on the ground. The referee asked the crowed to watch and said a referee is delivers justice.

Men vs Women : Divya sain pins her male opponent in a flash


इस बार दिव्या सैन की कुश्ती की ये वीडियो  हिमाचल प्रदेश की हैं। हिमाचल प्रदेश में पहाड़ पर पब्लिक बैठ कर इत्मीनान से कुश्ती दंगल का लुत्फ़ उठाती हैं। महिला और पुरुष की कुश्ती को उन्होंने बहुत पसंद किया। महज 10 सेकंड में दिव्या सैन ने अपने प्रतिद्वंदी पहलवान को चित्त कर सनसनी फैला दी। बढ़िया कुश्ती का प्रदर्शन। 

 This time Divya Sain fought with a male opponent at Hills of Himachal Pardesh, Folks sit on the hill side and watch the wrestling bouts peacefully. Divya sain pinned her opponent in a flash , withing 10 seconds. It was amazing.


 

Men vs Women : Divya Sain defeats a male opponent two times, Himachal Pardesh.

इस बार दिव्या सैन की कुश्ती की ये वीडियो घुमारमी , हिमाचल प्रदेश की हैं। हिमाचल प्रदेश में पहाड़ पर पब्लिक बैठ कर इत्मीनान से कुश्ती दंगल का लुत्फ़ उठाती हैं। महिला और पुरुष की कुश्ती को उन्होंने पहली बार देखा , और बहुत पसंद किया। हालांकि हिमाचल का पुरुष पहलवान महिला पहलवान से हारे ये दंगल कमिटी को भी गंवारा न हुआ । एक बार दिव्या सैन ने जब अपने प्रतिद्वंदी को सीधे साफ़ तौर पर परास्त किया , तो भी उन्होंने कुश्ती नहीं दी और एक बार फिर कुश्ती को दुबारा चालु कराया। एक बार फिर दिव्या सैन ने जब उसे चित्त किया तो उपहास करते हुए दंगल कमिटी के आयोजक ने कहा " आज जिस मर्द ने ये बेइज्जती कराई हैं , इसको पकड़ो और ले जाओ ! अब हमारी औरते बोलेंगी की तू हमारे आगे कुछ नहीं हैं ! " उनकी इस बात पर हज़ारों हज़ार दर्शकों ने खूब कहकहे लगाए। बड़ा मनोरंजन हुआ , पैसे वसूल ! आप भी देखिये। 




 This time Divya Sain fought with a male opponent at Hills of Himachal Pardesh, Folks sit on the hill side and watch the wrestling bouts peacefully. Watching women fighting with men was their first chance , it was like a dream but seeing is believing. The member of Dangal committee felt it hard to believe when Divya pinned her male opponent . They restarted the match , and again Divya Pinned him. A member of the dangal committee was heard saying on mike that whoever this wrestler is has put men on shame. He further said that now our women will jokingly mock at us and will say we are nothing against them. All the crowed laughed at this. It was a full on show , wrestling , men vs women, music and jokes . watch yourself.

Men vs Women : Divya sain pins a male wrestler at Village Karari, destrict Jhansi, Uttar Pardesh.


झाँसी जिले के करारी गाँव में बालजी पहलवान अपने पिता जी और चाचा की याद में हर साल दंगल कराते हैं। इस बार के दंगल में एक पुरुष पहलवान से दिव्या सैन ने कुश्ती लड़ी। कुश्ती मजेदार हैं , देखिये किस तरह पुरुष पहलवान ने दिव्या सैन को चित्त करने का भरपूर प्रयास किया। लेकिन अंत में दिव्या का ऐसा दांव लगा की पुरुष पहलवान चारों खाने चित्त जा गिरा। 


 In this video Divya Sain fights with a male wrestler. Her opponent tried to control her all the time . he is seen trying to pin hem all the time. while he fell down on an accurate move of Divya Sain. The event is a traditional wrestling competition organised by Balji Pahlwan, in the found memory of his father and uncle . The venue is Karari village, jalaun, Destrict Jhansi , Uttar Pardesh.


Divya Sain vs Santosh Sonipat : Inauguration event of Badot Wrestlng Hall

जाट कॉलेज , बड़ौत यूनिवर्सिटी में कुश्ती , जिला बाग़पत उत्तर प्रदेश में कुश्ती हाल के उदघाटन के दौरान हुए कुश्ती दंगल की ये एक वीडियो हैं। जिसमे दिव्या सैन ने भारी भरकम संतोष पहलवान को हराया। दंगल में चौधरी अजीत सिंह ने दिव्या सैन को मंच पर बुला कर सम्मानित किया।

 In this video , Divya Sain defeats a well built women wrestler . The event is the inauguration of the Kushti wrestling hall . The venue is Jat Univeristy , destrict Baghpat , Badot. Uttar Pardesh.


















Men vs Women : Diva Sain pins Nadeem from Aligarh. - Etawah Mahotsav, Uttar Pardesh



50 सालों से भी अधिक समय से प्रतिवर्ष आयोजित हो रहे इटावा महोत्सव के दौरान हुए कुश्ती दंगल में पहलवान दिव्या सैन को भी आमंत्रित किया गया। दंगल में आने का निमंतरण मिला तो इटावा पहुंचा। पहलवान दिव्या सैन की कुश्ती एक पुरुष पहलवान नदीम अलीगढ़ के साथ तय हुई। कुश्ती देखने स्वयं समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव मौजूद थे। नदीम को दिव्या सैन ने चित्त कर कुश्ती जीती तो मुलायम सिंह यादव ने खुश होकर दिव्या को बुलाकर नकद पांच सौ रूपये दिए। दिव्या सैन ने अपनी आर्थिक स्थिति का एक ज्ञापन मुलायम सिंह को लिखित रूप में सौंपा। जिसमे उसने लिखा की किस तरह दिल्ली में एक किराए के मकान में रह कर , पहलवानो के लंगोट जाँघिए सिलकर उसके माता पिता उसे पहलवानी करा रहे हैं। उन्होंने मुलायम सिंह जी से गुहार लगाईं की उत्तर प्रदेश के गाँव पुरबालियान जिला मुजफ्फर नगर की बेटी हूँ , और आर्थिक सहायता की दरखास्त करती हूँ। मुलायम सिंह ने उन्हें सरकारी सहायता देने का आश्वासन दिया। ये खबर लिखने तक दिव्या सैन उनके आश्वासन पूरा होने के इंतज़ार में हैं।

 The Etawaha festival in Uttar Pardesh is being held since more than 50 years. The Kushti dangal event in the festival is the main attraction of the festival. Wrestler Divya sain and me were invited in this event. Wrestler Divya sain was paired against a wrestler namely Nadeem from Aligarh. She pinned Nadeem easily and won the match. Samajwadi Party Leader Mulayam Singh Yadav were 

the chief guest at the event. He was pleased with Divya's win and gave her cash prize . She also submitted a memorandum seeking help from the Uttar Pardesh Govt.

 

Men Vs Women : Divya Sain fights at Mengroli Village Dangal


भारत माता को गुलामी की बेड़ियों से आज़ादी दिलाने वाले चंद्रशेखर , आज़ाद , भगत सिंह , बटुकेश्वर दत्त  जैसे क्रांतिकारियों की कुर्बानियों की याद में पंडत जी सुभाष मुखिया ने उत्तर प्रदेश के गौतम बुध नगर जिले के जेवर क्षेत्र के मंगरौली गाँव में एक विशाल दंगल करवाया। महिला कुश्तियों में पहलवान दिव्या सैन की एक पुरुष पहलवान से कांटेदार कुश्ती की ये वीडियो हैं।  पहलवान मजबूत था और दिव्या पर भारी पड़ा।  दोनों पहलवानो ने कुश्ती कला का जो समा बाँधा वो देखने लायक था।  कुश्ती ऊपर नीचे चली , दांव पेच और उनकी काट देखने लायक थी।  कोई पीछे न हटता , दर्शकों का शोर बढ़ता जाता।  जिन्होंने सोचा था की ये महिला पहलवान क्या लड़ेगी इस पुरुष पहलवान से उनकी धारणा बदलती जा रही थी , धीरे धीरे सब दिव्या सैन पहलवान के पक्ष में शोर मचाने लगे।  कुश्ती के बीच ऐसा लगता मानो अभी दिव्या चित्त या अभी पुरुष पहलवान चित्त , लेकिन दोनों फूर्ति से बचाव करते और फिर लड़ते।  कुश्ती के अंत में दिव्या पहलवान ने पुरुष पहलवान को चित्त कर समां बाँध दिया।  कुश्ती प्रेमी जनता ने दिव्या को नकद इनाम देकर उसकी झोली रुपयों से भर दी।  कुश्तियों की इतिहास में ऐसी कुश्ती शायद ही देखने को मिले।  














This is one of the best matches wrestler Divya sain fought and won. The wrestling event was held in the memory of freedom fighters organised by pandit Subhash Mukhia ji , at village Mangroli, Destrict Gautam Budh Nagar, near Jevar , Uttar Pardesh. only if you watch this video you can understand how fierce the fight was. both the wrestlers put all of the strength into it . The hooting of the spectators, the crowed went wild and every body enjoyed the bout








COMMENTS FROM MY YOUTUBE CHANNEL  ansuia1974

ALL COMMENTS (4)

Share your thoughts

Stream









ansuia1974 shared this 

1 year ago
Reply
 · 


are u sure is this a girl ?
Reply
 · 

no re.. But I saw a different looking Divya Sain in another video. The one with a little scar on her right arm.
Hey ansuia1974, how do I know upcoming events for this sport? I like a grappling sport and would like to see a live event someday.
Reply
 · 

are u sure this is a girl ?
Reply
 · 


Men Vs Women Divya Sain pins a Male Opponent - Hardoi Lucknow UP.

अरविन्द कनोजिया प्रतिवर्ष एक विशाल दंगल चन्दीपुर , माधव गंज हरदोई में कराते हैं। इस दंगल में दिव्या सैन की एक पुरुष पहलवान के साथ ये एक चटक कुश्ती हैं। इस कुश्ती में पुरुष पहलवान ने दिव्या सैन के साथ बढ़िया कुश्ती लड़ी। दिव्या सैन ने तेजी दिखाते हुए , हत्थी मारकर पहलवान को नीचे गिराया और चित्त कर दिया। दंगल में लोगों ने शोर मचा कर तालियां पीट कर दिव्या सैन का उत्साह वर्धन किया। इस कुश्ती को देख कर दंगल में आये लोगों के मन में महिलाओं के प्रति दृष्टिकोण बदला। हारे हुए पहलवान की हैरत की तो सीमा ही नहीं थी। उसे उम्मीद भी न होगी की वो इतनी जल्दी और इस तरह से हार जाएगा।





 Arvind Kanojia of Village Chandipur, Madhav Gunj, Hardoi , Uttar Pardesh , organises a big traditional Indian wrestling competition in his hometown every year. In this competition wrestler Divya Sain fougth with a male wrestler. The match was quick one, in which Divya Sain pinned the wrestler very fast. This match changed the general attitude of the village folk towards women , who consider women as fragile. The lost wrestler was bewildered at his defeat , may be he did not expected such a loss at the hands of a women wrestler.

 

Comments from my Youtube Channel  ansuia1974

ALL COMMENTS (2)

Share your thoughts

Stream




ansuia1974 shared this 

1 year ago
Reply
 · 

so cool !!! brave girl